छत्तीसगढ़ बड़ी ख़बर राज्य

देवगुड़ी निर्माण के लिये 1 करोड़ रूपये की स्वीकृति, सामुदायिक वन अधिकार पत्र के निरस्त दावों पर होगा पुनर्विचार

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में रविवार को मंत्रालय महानदी भवन में बस्तर एवं दक्षिण क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण की बैठक में देवगुड़ी निर्माण के लिये पूर्व में स्वीकृत राशि डेढ़ करोड़ रूपये को बढ़ाकर ढाई करोड़ रूपये करने का निर्णय लिया गया। बस्तर एवं दक्षिण क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण की पिछली बैठक में 11 जिलों में 150 देवगुड़ी निर्माण की स्वीकृति दी गई थी। बैठक में सामुदायिक वन अधिकार पत्रों के निरस्त दावों पर पुनर्विचार करने का भी निर्णय लिया गया। मुख्यमंत्री ने सामुदायिक वन अधिकार मान्यता पत्र के दावों का ग्राम सभा में वाचन करने के निर्देश भी दिये।
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने दंतेवाड़ा जिले के बैलाडीला क्षेत्र में लौह अयस्क से प्रदूषित पेयजल प्रभावित गांवों में शुद्ध पेयजल आपूर्ति के लिये धुरली और नेरली समूह नल जल प्रदाय योजना को नवंबर माह के अंत तक पूरा करने के निर्देश दिये। धुरली समूह जल प्रदाय योजना के अंतर्गत 38 करोड़ 66 लाख रूपये की लागत से 17 ग्रामों में तथा नेरली समूह जल प्रदाय योजना के अंतर्गत 14 करोड़ 82 लाख रूपये की लागत से 8 ग्रामों में शुद्ध पेयजल आपूर्ति की जाएगी। बैठक मेें मुख्यमंत्री ने शहीद वीर नारायण सिंह स्वावलंबन योजना के तहत वित्त वर्ष 2017-18 में स्वीकृत 28 दुकानों का निर्माण कार्य पूर्ण कराकर व्यवसाय प्रारंभ करने गरियाबंद, राजनांदगांव एवं कबीरधाम कलेक्टर को निर्देश दिये। इस योजना के अंतर्गत बस्तर एवं दक्षिण क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अंतर्गत वित्त वर्ष 2017-18 में लक्षित 50 हितग्राहियों में से 22 हितग्राहियों ने स्वरोजगार प्रारंभ कर दिया है जबकि 28 दुकानों का निर्माण प्रगति पर है।
बैठक में मुख्यमंत्री ने जगदलपुर जिले के ग्राम कोपागुड़ा में एनएमडीसी द्वारा 200 बिस्तर सुपर स्पेशलिटी के निर्माण एवं संचालन के लिये आवश्यक निर्णय लेने स्वास्थ्य विभाग एवं एनएमडीसी के अधिकारियों की संयुक्त बैठक करने के निर्देश दिये। उन्होंने बस्तर एवं दक्षिण क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अंतर्गत अधूरे निर्माण कार्याें को शीघ्र पूरा कराने के निर्देश दिये।
बैठक में स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप, गृृहमंत्री रामसेवक पैंकरा, वनमंत्री महेश गागड़ा, महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू,बस्तर एवं दक्षिण क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष भोजराम नाग, मुख्य सचिव अजय सिंह, समेत जनप्रतिनिधि एवं अधिकारीगण उपस्थित थे।

पत्रिका

अजब गजब