क्राइम छत्तीसगढ़ राज्य

नक्सली बन कर विधायक से मांगे दो लाख और मोबाइल, लिखा लाल स्याही से धमकी भरा पत्र, पुलिस ने किया गिरफ्तार

@ विजय साहू
गरियाबंद।
बिंद्रानवागढ़ विधायक एवं संसदीय सचिव गोवर्धन मांंझी को नक्सली के नाम से दो लाख व मोबाइल की मांग करने तथा मांग नहीं पूरी किए जाने पर जान से मारने की धमकी पत्र देने वाले दो आरोपियों को अमलीपदर पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया है।
विगत 25 मई को क्षेत्र के बिंद्रानवागढ़ विधायक गोवर्धन मांझी को नक्सली के नाम से दो लाख रुपये एवं मोबाइल की मांग करने तथा मांग पूरी नहीं किए जाने पर जान से मारने की धमकी देने के संबंध में विधायक को पत्र मिला, जिसकी जानकारी विधायक ने पुलिस को दी।  पुलिस अधीक्षक एमआर आहिरे, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नेहा पांडे एवं मैनपुर एसडीओपी राहुलदेव शर्मा के निर्देशन पर प्राप्त शिकायत पत्र को जांच थाना प्रभारी अमलीपदर उप निरीक्षक नरेंद्र साहू द्वारा की गई जांच पर पाया गया कि 5 मई 2018 को दुर्गा उर्फ तुलाराम मंहन्ती 30 साल निवासी पीपलखुटा और दिरजो राम पिता बरनो राम मरकाम 27 साल निवासी पीपलखुटा थाना अमलीपदर दोनों मिलकर अपने को नक्सली गैंग लीडर ललिता जानी बताकर विधायक गोवर्धन मांझी को दो लाख रुपये एवं मोबाइल दो दिन के अंदर मांग किए थे। मांग पूरी नहीं होने पर जान से मारने की धमकी भरा पत्र आरोपी दुर्गा उर्फ तुलाराम मंहन्ती द्वारा लाल स्याही से लिख कर विधायक को देना पाया गया था। आरोपियों को विभिन्न धाराओं में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है।

पत्रिका

अजब गजब