छत्तीसगढ़ राज्य

घात लगाए नक्सली खुद ही फंसे, पुलिस पड़ी भारी, एक नक्सली को किया ढेर, बरामद किए हथियार

@ पंकज राज
बीजापुर।
गंगालूर और मिरतूर थाना क्षेत्रों की सरहद पर एण्ड्रीपाल व पोर्रेवाड़ा के बीच नाले में रविवार की दोपहर करीब 12 बजे डीआरजी के जवानों को फांसने घात लगाई डीवीसी मेंबर कमलू की पलटन खुद धोखा खा गई और पुलिस भारी पड़ गई। इसमें एक नक्सली भागते वक्त मारा गया। उसका शव बरामद कर लिया गया है।
सूत्रों के मुताबिक डीआरजी के जवान इंस्पेक्टर लीलाधर राठौर की अगुवाई में 29 जून को गंगालूर से सर्चिंग पर निकले थे। उन्हें शनिवार को ही सूचना मिल गई थी कि जप्पेमरका में नक्सली लीडरों का जमावड़ा है। जब जवान रविवार की दोपहर करीब 12 बजे एण्ड्रªीपाल और पोर्रवाड़ा के बीच पहाड़ी नाले के करीब पहुंचे तो नक्सलियों ने पुलिस पार्टी पर फायरिंग कर दी। इसके बाद माओवादी पहाड़ी में पेड़ों की ओट लेते भाग गए। इलाके की सर्चिंग के दौरान पुलिस ने मौके से एक नक्सली का शव बरामद किया। यहां से एक इंसास राइफल, खोखे, एक मेगजिन, एक हैण्ड ग्रेनेड, पिट्ठू, नक्सली झण्डा, नक्सली साहित्य,कपड़े एवं दैनिक उपयोग के सामान मिले। सूत्रों के मुताबिक भैरमगढ़ एरिया कमेटी में आने वाले इस इलाके में डीवीसी मेंबर कमलू इन दिनों ऑपरेट कर रहा है। पहले इस क्षेत्र में चंद्रन्ना काम कर रहा था।
बड़े लीडरों की थी मौजूदगी
एएसपी डी. पटेल ने पत्रकारों को बताया कि एण्ड्रीपाल इलाके में कमाण्डर स्तर के नक्सलियों की मौजूदगी की खबर थी। मारे गए नक्सली की शिनाख्त नहीं हो पाई है। अब तक किसी ने शव पर दावा नहीं किया है। नक्सली की उम्र करीब 32 साल थी।

पत्रिका

अजब गजब