छत्तीसगढ़

मनरेगा मजदूरी भुगतान पर विधानसभा में घिरे पंचायत मंत्री

रायपुर. छतीसगढ राज्य विधानसभा में मंगलवार को मनरेगा के मजदूरों के मजदूरी भुगतान का मामला गूंजा। विधानसभा में प्रश्न काल के दौरान कांग्रेस विधायक लाल जीत सिंह राठिया और अमरजीत भगत ने रायगढ़ जिले और सरगुजा सम्भाग में मनरेगा मजदूरों के मजदूरी भुगतान का मामला उठाते हुए कहा कि मनरेगा में काम करने वाले हजारों मजदूरों का भुगतान रुका हुआ है।

कांग्रेस विधायकों ने आरोप लगया कि कई क्षेत्रों में दो साल तीन साल से भी मजदूरों का भुगतान लम्बित है जबकि कई स्थान पर मजदूरों के नाम पर राशि का आहरन हो गया है लेकिन मजदूरों को भुगतान नहीं मिला है। प्रश्न का जवाब देते हुये राज्य के पंचायत और ग्रमीण विकास मंत्री अजय चन्द्राकर ने राज्य में मनरेगा मजदूरों के मजदूरी भुगतान नहीं होने से इन्कार किया और कहा कि मजदूरों के काम का जियो टेकिंग के जरिए सत्यापित कर मजदूरों को ऑनलाईन भुगतान किया किया जाता है।

कांग्रेस विधायकों के आरोप और अमरजीत भगत द्वारा सरगुजा संभाग के स्पेस्फिक क्षेत्रों मे भुगतान नही होने की जानकारी देने के बाद पंचायत मन्त्री ने पूरे मामले की जांच कराने की घोषणा की।

पत्रिका

अजब गजब