छत्तीसगढ़

राज्य में विशेषज्ञ चिकित्सक के 88 प्रतिशत पद खाली, स्वास्थ्य मन्त्री के पास रिक्त पदों को भरने कोई प्लान नहीं

रायपुर. छत्तीसगढ़ के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र और जिला चिकित्सालय में चिकित्सा विशेषज्ञ के करीब 88 प्रतिशत पद खाली हैं और राज्य के स्वास्थ्य मन्त्री के पास खाली पदों को भरने को लेकर कोई ठोस प्लान नहीं है। राज्य विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस विधायक पारसनाथ राजवाड़े ने प्रदेश के अस्पतालों में रिक्त पदों के बारे मे जानकारी चाही थी।

प्रश्न का जवाब देते हुए राज्य के स्वास्थ्य मन्त्री ने बताया की राज्य के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मे चिकित्सा विशेषज्ञों के कुल 1295 पद स्वीकृत हंै जिसमे 147 चिकित्सक कार्यरत हैं और 1148 चिकित्सकों के पद रिक्त है। इसी तरह से राज्य में चिकित्सा अधिकारियों के 1738 पद स्वीकृत हंै जिसमें 1171 पद भरे हुये और 567 पद खाली है। इसी तरह से प्रदेश के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र और जिला चिकित्सालय में स्टाफ नर्स के 3827 के विरुद्ध 1507 पद खाली है।

इसके अतिरिक्त प्रदेश के अस्पतालों में बड़ी संख्या मे अन्य पद भी रिक्त है। कांग्रेस विधायक ने जानना चाहा कि अस्पतालों में रिक्त पदों को कब तक भर लिया जायेगा। प्रश्न का जवाब देते हुये अजय चन्द्राकर ने कहा कि चिकित्सकों की समस्या केवल छत्तीसगढ़ की ही नहीं बल्कि वैश्विक समस्या है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार लगातार रिक्त पदों को भरने के लिए इन्टरव्यू करती है लेकिन योग्य चिकित्सको की समस्या बनी हुई है। उन्होनें के कहा रिक्त पदों को भरने की समय सीमा बताना सम्भव नहीं है।

पत्रिका

अजब गजब