अजब गजब

भरी बारिश में बस्ती खाली करने का फरमान, कांग्रेस ने कहा- वैध बस्ती को अवैध बता रहा है नगर निगम

मनोज साहू

रायपुर. भरी बरसात में चंगोराभाठा के मटकोड़वापारा बस्ती के 400 घरों को तोड़कर उन्हें 10 किलोमीटर दूर हीरापुर में शिफ्ट होने का आदेश निगम द्वारा जारी किया गया है. दो माह पहले घर तोडऩे की नोटिस आया तब महापौर और कमिश्नर ने आश्वस्त किया था पट्टे का परीक्षण कर कार्रवाई होगी पर उनके आदेश की खुली अवहेलना हुई है.

कांग्रेस व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कन्हैया अग्रवाल, सुनील ध्रुव और सुनील शेरके ने कहा की जोन क्रमांक 05 के कमिश्नर से जारी आदेश में अनाधिकृत कब्जे को खाली कर हीरापुर में बीएसयूपी आवास हेतु आवेदन करने दो दिन का समय दिया है.

उन्होंने कहा की कमिश्नर ने हास्यास्पद आदेश जारी किया है. जिस बस्ती के लोगों को हटाने नोटिस जारी हुआ है वह बस्ती अनाधिकृत नहीं है उसे शासन द्वारा 1998 में राजीव गांधी आश्रय योजना के तहत 30 साल के लिए पट्टा देकर बसाया गया है जिसमे सभी के पट्टे की अवधि 10 वर्ष बाकी है. निगम के अधिकारियों के इस तुगलकी फरमान जा कांग्रेस पार्टी ने कड़ा विरोध दर्ज किया है और इस संबंध में लोगों के लिए न्याय दिलाने हर संभव कोशिश करेगी.

पत्रिका

अजब गजब