छत्तीसगढ़

लक्ष्मीनारायण मंदिर मे शिवभक्ति की बयार बह रही है जो पूरे सावन महीने बहती ही रहेगी।

लक्ष्मीनारायण मंदिर मे शिवभक्ति की बयार बह रही है जो पूरे सावन महीने बहती ही रहेगी।
लक्ष्मीनारायण मंदिर मे शिवभक्ति की बयार बह रही है जो पूरे सावन महीने बहती ही रहेगी।

रायगढ़ – वैसे तो भगवान शिव की भक्ति को समर्पित श्रावण माह मे नगर के तमाम शिवालयों मे शिवलहरी का प्रभाव पूरे महीने बना रहता है लेकिन इस पवित्र माह मे नगर के प्रसिद्ध लक्ष्मीनारायण मंदिर की अनुपम छटा की बात ही निराली है। हर सावन सोमवार मंदिर मे स्थित शिवलिंग के पूजन व जलाभिषेक के लिये श्रद्धालुओं की भारी भीड जुटती है।
लक्ष्मीनारायण मंदिर के पुजारी संत पं. गरीबदास बताते हैं कि नगर मे भगवान लक्ष्मीनारायण का यह इकलौता मंदिर है किंतु यहां बजरंग बली, शक्ति की अधिष्ठात्री देवी दुर्गा व शिवलिंग के साथ त्रिदेव तथा त्रिदेवी की प्रतिमा प्राणप्रतिष्ठित है। पुजारी पं. गरीबदास ने बताया कि दिन के दोनो पहर मे भगवान लक्ष्मीनारायण की पूजा के समय रोजाना मंदिर मे भक्त जुटते हैं। साथ ही श्रावण माह मे शिवलिंग पर जलाभिषेक व पूजन के अलावा रुद्राभिषेक भी मंदिर मे विद्वान पंडितों के द्वारा कराया जाता है। प्रति मंगलवार बजरंग बली व गुरुवार को लक्ष्मीनारायण की विशेष आराधना की जाती है तथा अन्नकूट पर गोवर्धन पूजा व मंदिर परिसर मे विशाल भण्डारा लगाया जाता है। ज्ञात हो कि पिछले करीब 5 दशकों से नगर के ह्दयस्थल पर स्थित लक्ष्मीनारायण मंदिर का महात्मय व ख्याति इतनी व्यापक है कि मनोकामना पूर्ति से लेकर दैहिक, दैविक व भौतिक संताप का उपचार पाने भक्तगण इसी मंदिर की शरण मे आकर तृप्त होते हैं। वर्तमान मे लक्ष्मीनारायण मंदिर मे शिवभक्ति की बयार बह रही है जो पूरे सावन महीने बहती ही रहेगी।\

पत्रिका

अजब गजब