बड़ी ख़बर

एम करुणानिधि को दफनाने के मामले की मद्रास HC में 8 बजे सुनवाई !

एम करुणानिधि को दफनाने के मामले की मद्रास HC में 8 बजे सुनवाई !
एम करुणानिधि को दफनाने के मामले की मद्रास HC में 8 बजे सुनवाई !

चेन्नई : डीएमके प्रमुख और तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम.करुणानिधि नहीं रहे। वह 94 साल के थे। चेन्नई स्थित कावेरी अस्पताल में मंगलवार को उन्होंने शाम छह बजकर दस मिनट पर अंतिम सांस ली।
एम करुणानिधि को दफनाने के मामले की मद्रास HC में 8 बजे सुनवाई होगी. देर रात सुनवाई के दौरान सरकार की ओर से मद्रास हाईकोर्ट से समय मांगा गया था. वहीं मद्रास हाईकोर्ट ने सरकार को डीएमके की मांग पर विचार करने को कहा था.
इससे पहले मेडिकल बुलेटिन में करुणानिधि की तबियत और बिगड़ने की बात कही गई थी, जिसके बाद से गोपालपुरम और चेन्नई के कावेरी अस्पताल में उनके समर्थक लगातार जुटने लगे. वहीं, डीएमके समर्थकों की संख्या को देखते हुए पुलिस भी हाई अलर्ट पर है.
करुणानिधि के निधन पर तमिलनाडु सरकार ने बुधवार की छुट्टी और पूरे सूबे में सात दिवसीय शोक की घोषणा की. तमिलनाडु में थिएटर बंद कर दिए गए हैं. थिएटर ऑनर एसोसिएशन के अबिरामी रामनाथन और पन्नीरसेल्वम ने इसकी पुष्टि की. करुणानिधि के शव को कावेरी अस्पताल से गोपालपुरम आवास ले जाया जाएगा और बुधवार सुबह राजाजी हॉल में अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अभिनेता रजनीकांत समेत अन्य नेताओं ने ट्वीट कर करुणानिधि के निधन पर शोक जताया है. उन्होंने कहा कि करुणानिधि को देश हमेशा याद रखेगा.
उन्होंने ट्वीट किया, ‘इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदना करुणानिधि के अनगिनत समर्थकों और परिजनों के साथ है. भारत और खासकर तमिलनाडु उनको हमेशा याद रखेगा. उनकी आत्मा को शांति मिले.’
मोदी ने कहा, ‘मुझे करुणानिधि से कई अवसरों पर मिलने का अवसर मिला. उनको पॉलिसी की अच्छी समझ थी और वो समाज कल्याण के कार्यों पर जोर देते थे. वो लोकतंत्रिक मूल्यों के लिए प्रतिबद्ध थे. आपातकाल के खिलाफ उनका कड़ा विरोध हमेशा याद किया जाएगा.’
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट किया, ‘एम करुणानिधि के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ. ‘कलैनार’ के नाम से लोकप्रिय वह एक सुदृढ़ विरासत छोड़कर जा रहे हैं, जिसकी बराबरी सार्वजनिक जीवन में कम मिलती है. उनके परिवार के प्रति और लाखों चाहने वालों के प्रति मैं अपनी शोक संवेदना व्यक्त करता हूं.’
एम करुणानिधि के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ। “कलैनार” के नाम से लोकप्रिय वह एक सुदृढ़ विरासत छोड़ कर जा रहे हैं जिसकी बराबरी सार्वजनिक जीवन में कम मिलती है। उनके परिवार के प्रति और लाखों चाहने वालों के प्रति मैं अपनी शोक संवेदना व्यक्त करता हूँ – राष्ट्रपति कोविन्द
आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर करुणानिधि के देहांत पर दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘महान नेता करुणानिधि के निधन की खबर सुनकर दुखी हूं. उनकी आत्मा का शांति मिले. उनका निधन देश के लिए बड़ी क्षति है.’
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘आज भारत ने अपने सबसे महान बेटों में से एक को खो दिया. साथ ही तमिलनाडु ने एक तरह से अपने पिता को खो दिया. अलविदा करुणानिधि. तमिलनाडु की जनता, एमके स्टालिन, कनिमोझी और परिवार के साथ मेरी गहरी संवेदना हैं. भारत आपको खोने के शोक में डूब गया है.’
तमिल अभिनेता रजनीकांत ने करुणानिधि के देहांत पर ट्वीट किया, ‘यह एक काला दिन है. मैं अपने आर्टिस्ट के दिन को अपने जीवन में कभी नहीं भूल सकता हूं. उनकी आत्मा को शांति मिले.’
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने करुणानिधि के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि भारत ने अपने एक महान बेटे को खो दिया. तमिलों के प्रिय कलैगनार छह दशक से ज्यादा समय तक तमिलनाडु की राजनीति में रहे. उनके निधन से भारत ने अपने महान बेटे को खो दिया. मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं.
वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चेन्नई के लिए रवाना होने वाली हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी बुधवार सुबह चेन्नई के लिए होंगे रवाना.
डीएमके समर्थकों से हिंसा से दूर रहने की अपील
एमके स्टालिन ने डीएमके के काडर से किसी भी तरह की हिंसा से दूर रहने की अपील की. उन्होंने कहा कि शांति बनाए रखें, क्योंकि यही अपने नेता के प्रति सम्मान जाहिर करने का तरीका है.
टीडीपी अध्यक्ष और तेलंगाना के सीएम एन चंद्रबाबू नायडू करुणानिधि के अंतिम संस्कार में लेंगे हिस्सा. वह बुधवार को चेन्नई के लिए निकलेंगे.
चेन्नई के कावेरी अस्पताल के बाहर भी डीएमके कार्यकर्ताओं और समर्थकों की भीड़ एक बार फिर से एकत्रित हो गई है. अस्पताल के बाहर समर्थकों के बीच कोहराम मच हुआ है. करुणानिधि की तबियत बिगड़ने की खबर के बाद समर्थक रो रहे हैं. वहीं, पुलिस को भी हाई अलर्ट पर रहने को कहा गया है.
करुणानिधि 29 जुलाई से चेन्नई के कावेरी अस्पताल के इंटेंसिव केयर यूनिट (आईसीयू) में भर्ती थे. अस्पताल की ओर से जारी बयान में कहा गया कि करुणानिधि की उम्र के हिसाब से उनके शरीर के सभी ऑरगन्स काम करना बंद कर दिए थे.
बता दें कि पांच बार मुख्यमंत्री रहे करुणानिधि को देखने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा अस्पताल का दौरा कर चुके हैं.
इसी साल तीन जून को करुणानिधि ने अपना 94वां जन्मदिन मनाया. ठीक 50 साल पहले 26 जुलाई को ही उन्होंने डीएमके की कमान अपने हाथ में ली थी. लंबे समय तक करुणानिधि के नाम हर चुनाव में अपनी सीट न हारने का रिकॉर्ड भी रहा.
वो पांच बार मुख्यमंत्री और 12 बार विधानसभा सदस्य रहे हैं. अभी तक वह जिस भी सीट पर चुनाव लड़े हैं, उन्होंने हमेशा जीत दर्ज की है. करुणानिधि ने 1969 में पहली बार राज्य के सीएम का पद संभाला था, इसके बाद 2003 में आखिरी बार मुख्यमंत्री बने थे

पत्रिका

अजब गजब