छत्तीसगढ़

बस्तर के कई जिलों में औसत से अधिक बारिश!

बस्तर के कई जिलों में औसत से अधिक बारिश!
बस्तर के कई जिलों में औसत से अधिक बारिश!

रायपुर।
प्रदेश के आसमान पर काले घने बादलों की आवाजाही बनी हुई है, ये बरस भी रहे हैं। उत्तर-दक्षिण बस्तर के कई जिलों में तो औसत से अधिक बारिश हो चुकी है।
मौसम विभाग के मुताबिक अभी 90 फीसद क्लाउड रहेगा। 20 अगस्त के आसपास एक मजबूत सिस्टम बन रहा है जिससे समूचे प्रदेश में अच्छी बारिश का पूर्वानुमान है। इस पूरे मानसून सीजन में प्रदेश में 770 मिमी बारिश हो चुकी है, औसत बारिश से सिर्फ दो फीसद कम है, जिसकी भरपाई जल्द हो जाएगी।
बांधों का जल स्तर भी बढ़ता जा रहा है। नदियों में ठीक-ठाक पानी है। उम्मीद जताई जा रही है कि सूखे जैसे हालात नहीं बनेंगे। मगर बलरामपुर, जशपुर जांजगीर, बिलासपुर, कोरबा, कोरिया और राजनांदगांव की स्थिति चिंताजनक तो है।
बहरहाल अगस्त को गुजरने में 13 दिन का समय है, सितंबर में भी बरसात होती है। शुक्रवार को दिनभर राजधानी में बादलों का डेरा था, लेकिन बरसात नहीं हुई। सर्वाधिक बारिश सुकमा में 24 मिलीमीटर दर्ज की गई।
पूर्वानुमान- दक्षिण छत्तीसगढ़ में अनेक स्थानों पर तथा उत्तर छत्तीसगढ़ में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा या गरज चमक के साथ बौछारें पड़ने की अति संभावना है।
क्या कहते हैं मौसम वैज्ञानी-
लालपुर मौसम विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानी एचपी चंद्रा के मुताबिक केंद्रीय मौसम विभाग ने मई 2018 में मध्य भारत में 95 फीसद बारिश का पूर्वानुमान जारी किया था। जो सिस्टम बन रहे हैं उससे राज्य उसके नजदीक है।

पत्रिका

अजब गजब