राजनीति

सत्यपाल मलिक आज पद और गोपनीयत का शपथ लेंगे।

सत्यपाल मलिक आज पद और गोपनीयत का शपथ लेंगे।
सत्यपाल मलिक आज पद और गोपनीयत का शपथ लेंगे।

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल पद के लिये नामित सत्यपाल मलिक आज (बुधवार) को पद और गोपनीयत का शपथ लेंगे। इस तरह, राज्य में इस पद पर किसी सेवानिवृत्त नौकरशाह को नियुक्त किए जाने की पांच दशकों से चली आ रही परंपरा समाप्त हो जाएगी। अधिकारियों ने आज यह जानकारी दी।
मलिक (72) करीब-करीब सभी राजनीतिक विचारधाराओं से जुड़े रहे हैं। जम्मू कश्मीर में कर्ण सिंह के बाद इस पद पर काबिज होने वाले वह प्रथम राजनीतिज्ञ होंगे। गौरतलब है कि सिंह 1965 से 1967 के बीच राज्य के राज्यपाल रहे थे। बिहार के पूर्व राज्यपाल मलिक आज एक चार्टर्ड विमान से श्रीनगर पहुंचे।
मलिक के राजनीतिक सफर पर नजर
मलिक ने मेरठ विश्वविद्यालय में एक छात्र नेता के तौर पर अपना राजनीतिक करियर शुरू किया था। वह उत्तर प्रदेश के बागपत में 1974 में चरण सिंह के भारतीय क्रांति दल से विधायक चुने गए थे।
मलिक 1984 में कांग्रेस में शामिल हो गए और राज्यसभा सदस्य बने लेकिन बोफोर्स घोटाले के मद्देनजर तीन साल बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया। वह वीपी सिंह नीत जनता दल में 1988 में शामिल हुए और 1989 में अलीगढ़ से सांसद चुने गए।
वर्ष 2004 में मलिक भाजपा में शामिल हुए थे और लोकसभा चुनाव लड़े, लेकिन इसमें उन्हें पूर्व प्रधानमंत्री चरण सिंह के बेटे अजीत सिंह से शिकस्त का सामना करना पड़ा। बिहार के राज्यपाल पद की चार अक्तूबर 2017 को शपथ लेने से पहले वह भाजपा किसान मोर्चा के प्रभारी थे।

पत्रिका

अजब गजब