छत्तीसगढ़

बिलासपुर जिले की पुलिस ने इस बार अनोखे तरह से रक्षाबंधन का त्यौहार मनाकर लोगों को जोड़ने का प्रयास कर रही !

बिलासपुर जिले की पुलिस ने इस बार अनोखे तरह से रक्षाबंधन का त्यौहार मनाकर लोगों को जोड़ने का प्रयास कर रही !
बिलासपुर जिले की पुलिस ने इस बार अनोखे तरह से रक्षाबंधन का त्यौहार मनाकर लोगों को जोड़ने का प्रयास कर रही !

करगीरोड कोटा।
रक्षा बंधन के पवित्र त्योहार पर बिलासपुर जिले की पुलिस ने इस बार अनोखे तरह से रक्षाबंधन का त्यौहार मनाकर लोगों को जोड़ने का प्रयास कर रही है। इस मुहिम का उद्देश्य महिलाओं को अपने अधिकारों की रक्षा के लिए पुलिस से सहज ढंग से जोड़ना है।
इस मुहिम को लेकर कोटा थाना के नए थाना प्रभारी कृष्णा पाटले द्वारा अपने थाना स्टॉफ के पुलिस जवानों के साथ कोटा के कन्या हाई स्कूल शाला,निरंजन केशरवानी कॉलेज में पहुंच कर कोटा पुलिस द्वारा राखी विद खाकी मुहिम से यह संदेश देने की कोशिश की गई।
पुलिस हमेशा आपके पास तो नहीं रहती, लेकिन उनके साथ रहती है। पुलिस की इस सार्थक पहल में सोशल नेटवर्क साइट्स पर बाकायदा इस अभियान को चलाया जा रहा है।
रक्षाबंधन के दिन सभी महिलाएं और छात्राएं ाखी विद खाकी मुहिम से जुड़कर पुलिसकर्मी को राखी बांधेंगी। उनके साथ सेल्फी लेकर सोशल मीडिया में पोस्ट भी करेंगी। बिलासपुर पुलिस ने इसके लिए एक वीडियो भी जारी किया है। जिसमें महिलाएं पुलिस पर अपना विश्वास जताते दिख रही हैं पर महिलाएं व युवतियां अपनी समस्या पुलिस से शेयर करने में बचने का प्रयास करती हैं,और असहज महसूस करती हैं।
इस छोटी सी संवेदनशील पहल से पुलिसकर्मियों का मनोबल बढ़ेगा। वहीं महिलाओं व युवतियां भी अपनी समस्याएं बेखौफ होकर बता सकेंगी।
यह अभियान 25 अगस्त से शुरू होकर 27 अगस्त तक चलेगा, इस अभियान के तहत महिलाएं व युवतियां पुलिस भाइयों के साथ सेल्फी लेकर 9399021091 पर वाट्सएप के साथ ही बिलासपुर पुलिस के फेसबुक व ट्विटर पर शेयर कर सकती हैं।
बिलासपुर जिले में नए आईजी दीपांशु काबरा और नए एसपी आरिफ शेख के आने से जिले में काफी कुछ नया देखने को मिल रहा है, नए नए प्रयोग किए जा रहे हैं, आम जनों से सीधे जुड़ने की कोशिश की जा रही है।
आईजी दीपांशु काबरा ने सोशल मीडिया पर फेसबुक और ट्वीटर पर एक पेज बनाया है,जिसमें जिले के और संभाग के आम लोग बहुत सारी ऐसे अपराध से जुड़ी हुई समस्या या फिर थानों में की गई कंप्लेन की सुनवाई ना होने की बात सीधे ट्वीटर पर करते हैं, जिस पर पुलिस महानिरिक्षक दीपांशु काबरा और पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख द्वारा स्वत:ही संज्ञान लेकर सोशल मीडिया पर ही उन समस्याओं का हल कर देते हैं।
पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख बिलासपुर जिले की कमान संभालने के बाद महिलाओं को लेकर उनकी सुरक्षा को लेकर महिला संवेदना केंद्र का जिले के सभी थानों में निर्माण कराया गया। जिसमें महिला संबंधी शिकायतों को संवेदना केंद्र के माध्यम से निराकरण किया जाता है। जिस पर अभी हाल में ही बिलासपुर जिले को सम्मानित किया गया।
दिल्ली में जिसमें स्वयं पुलिस अधीक्षक बिलासपुर आरिफ शेख स्वयं उपस्थित होकर पुरस्कार प्राप्त किए थे, एक प्रकार से बिलासपुर जिले का वर्तमान पुलिस अधीक्षक ने मान बढ़ाया और इससे पहले भी अमेरिका वाशिंगटन जाकर बेहतरीन पुलिसिंग के बारे में कार्यशाला को संबोधित किया अपने अनुभव साझा किए।

पत्रिका

अजब गजब